लड़का हो या लड़की योग करो स्वस्थ रहो

लड़का हो या लड़की योग करो स्वस्थ रहो

योगा, विश्व को आज के शहरीकरण के दौर में स्वस्थ रखने का रामबाण इलाज है, जिसके तर्ज पर ही 21 जून को विश्व योगा दिवस के मनाया जाता है। योग सभी के लिए है और इसका नियमित अभ्‍यास करने से सभी प्रकार की बीमारियां दूर होती हैं। यह न केवल बीमारियों से बचाता है बल्कि नियमित योग करने से शरीर मजबूत होता है। लड़कों को योग क्‍यों करना चाहिए, इससे उनको क्‍या-क्‍या फायदा होगा। इस लेख में इसके बारे में चर्चा करते हैं।

73% योगा टीचर लड़कियां हैं, ऐसे में ह्वाई शुड गर्ल्स हैव ऑल द योगा?

इससे आपकी बॉ़डी फ्लेक्सिबल होगी और दर्द की शिकायत कम होगी।

आपका शरीर मानसिक और शारीरिक तौर पर चुस्त-दुरूस्त बनेगा।

चेहरे में निखार आएगा और मानसिक तौर पर शांत रहने में मदद मिलेगी।

 

शरीर को बनाये लचीला

प्राकृतिक तौर पर लड़कियों का शरीर लड़कों के शरीर की तुलना में अधिक फ्लेक्सिबल होता है। इसलिए उम्र बढ़ने पर लड़कियों की तुलना में लडकों को रीढ़ या पीठ के दर्द की समस्या अधिक होती है। इन दर्द से छुटकारा पाने का एक ही इलाज है योगा। लड़के योगा कर अपने शरीर को फ्लेक्सिबल बना सकते हैं और रीढ़ या पीठ से संबंधित दर्द से छुटकारा पा सकते हैं। उन लड़कों के लिए तो योग ब्रह्मास्त्र का काम करता है जो ऑफिस में नौ घंटे बैठ कर काम करते हैं।

 

शरीर को मजबूत बनायें

अब आप सोच रहे होंगे की योग करके कैसे ताकतवर बना जा सकता है। ठीक है आप पुशअप करते हैं, डम्बल उठाते हैं। लेकिन ऐसा करने मात्र से ही अपने आप को ताकतवर ना समझे और अगर ताकतवार समझ रहे हैं तो पैर की उंगलियों में पांच मिनट के लिए खड़ें हो जाएं। अपनी सारी ताकत का अंदाजा आपको इन पांच मिनटों में हो जाएगा। जबकि योग करने के दौरान ये पांच मिनट आपको ताकतवर भी बनाएंगे और शारीरिक व मानसिक तौर पर चुस्त-दुरूस्त करेंगे।

 

तरो-ताजा रखेगा

योग सामान्य तौर पर सुबह-सुबह किया जाता है जिससे आप खुद को प्रकृति के नजदीक महसूस करेंगे। जो आपको पूरे दिन तरोताजा बनाए रखेगा औऱ मानसिक तौर पर शांत बनाएगा। इससे चेहरे पर निखार आएगी और तनाव कम करेगा।

 

योग के अन्य फायदे

- योग आपकी बुद्धि को तेज और शार्प बनाता है। साथ ही आपकी आत्मनियंत्रण की शक्ति तेज होती है। 
- संयमी और आहार-विहार में मध्यम मार्ग का अनुकरण करने वाला बनाता है। 
- बीमारियों से शरीर को दूर रखता है। श्वसन क्रिया को नियमन करता है।