खुले स्थान पर योग करने के फायदे ज्यादा

योग एक व्यक्ति को भावनात्मक, शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक रूप से बेहतर बनाने में मदद करता है। अधिकतर लोग ऐसा मानते हैं कि योग चारदीवारी में किया जाता है और तभी इसके लाभ मिलते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है। आप एक खुले स्थान पर भी योग कर सकते हैं और खुले स्थान पर योग करने के फायदे ज्यादा हैं।

इंद्रियां जागती हैं-

जब आप खुले स्थान पर योग करते हैं, तो आपको फूलों की गंध आती है, पैरों के नीचे घास होती है, पक्षियों की आवाज सुनते हैं और आसमान में अलग-अलग रंग नजर आते हैं। इन सब चीजों से आपकी इंद्रियां तेज होती हैं। 

आप सुनना शुरू करते हैं-

जब आप बाहर किसी एकांत जगह पर योग करते हैं तो आप वाहन और लोगों के शोर से दूर प्रकृति के साथ होते हैं। आप शांत होते हैं और अपने विचारों को सुनना शुरू करते हैं। जब आप खुद को सुनना शुरू कर देते हैं, तो आप यह भी समझने लगते हैं कि आप क्या चाहते हैं।

बैलेंस में सुधार होता है-

जाहिर है बाहर योगासन करने समय मैट बिछाने के लिए सही जगह ढूंढना मुश्किल हो सकता है। आपकी मैट उबड़-खाबड़
 जगह पर बिछी होती है। ऐसी जगह योग करने से आपको अपने फिजिकल बैलेंस में सुधार करने में मदद मिलती है। 

ऊर्जा मिलती है-

अध्ययन बताते हैं कि बाहर जाने से आपके दिमाग को संकेत मिलते हैं कि आपका शरीर प्राकृतिक वातावरण में है और सतर्क रहने के लिए इंद्रियों को अलर्ट करता है, इसलिए आपको अधिक ऊर्जा मिलती है।

तनाव दूर होता है-

अकेले योग करने से आपका तनाव कम होता है लेकिन जब आप इसे प्रकृति में करते हैं, तो इसका ज्यादा प्रभाव पड़ता है। अध्ययनों से पता चला है कि जो लोग वन और पर्यावरण के संपर्क में होते हैं उन्हें बहुत कम तनाव होता है।

श्वसन में सुधार होता है-

जाहिर है जब आप ताजी हवा में सांस लेते हैं, तो स्वाभाविक रूप से आपकी सांसें मजबूत होती है। क्योंकि, आपके फेफड़ों को साफ ऑक्सीजन मिलती है जिससे आपको ऊर्जा मिलती है।

विटामिन डी-

बाहर योग करने से आप सूरज की रोशनी के संपर्क में होते हैं जिससे आपको योगासन करते-करते विटामिन डी भी मिलता है।