प्राकृतिक चिकित्सा से कम नहीं है कुंभ स्नान एवं कल्पवास

कुंभ स्नान तथा कल्पवास

कुंभ स्नान तथा कल्पवास एक तरह का प्राकृतिक चिकित्सा का ही रूप है जो लोग कुंभ स्नान करते हैं एवं 45 दिन का कल बात करते हैं उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है तथा उन्हें जल्द बीमारियां अपना शिकार नहीं कर पाती कुंभ स्नान करने से कई प्रकार के चर्म रोग एवं अन्य रोग भी ठीक हो जाते हैं कुंभ स्नान एवं कल बात करने से कई प्रकार के शारीरिक विकार दूर होते हैं एवं मानसिक विकार भी दूर होते हैं कुंभ स्नान एक अमृत पान की तरह स्नान के दौरान जल में मौजूद नए पुराने ज्ञात अज्ञात सूक्ष्म जीवाणु शरीर में प्रवेश करते हैं इसीलिए व्यक्ति इन सूक्ष्म जीवाणुओं के रोग प्रतिरोधक क्षमता अपने शरीर में विकसित कर लेता है

खुले स्थान पर योग करने के फायदे ज्यादा

योग एक व्यक्ति को भावनात्मक, शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक रूप से बेहतर बनाने में मदद करता है। अधिकतर लोग ऐसा मानते हैं कि योग चारदीवारी में किया जाता है और तभी इसके लाभ मिलते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है। आप एक खुले स्थान पर भी योग कर सकते हैं और खुले स्थान पर योग करने के फायदे ज्यादा हैं।

इंद्रियां जागती हैं-

जब आप खुले स्थान पर योग करते हैं, तो आपको फूलों की गंध आती है, पैरों के नीचे घास होती है, पक्षियों की आवाज सुनते हैं और आसमान में अलग-अलग रंग नजर आते हैं। इन सब चीजों से आपकी इंद्रियां तेज होती हैं। 

आप सुनना शुरू करते हैं-

महराजगंज में पढ़ाई के साथ योग भी सीखेंगे राजकीय विद्यालय के मेधावी

वैश्विक स्तर पर छाप छोड़ चुके योग के जरिए निरोग होने का मंत्र अब राजकीय माध्यमिक विद्यालय के विद्यार्थी भी सीखेंगे। इसके लिए जिले के सभी 26 राजकीय इंटर कॉलेजों में योग गुरु तैनात किए गए हैं। स्कूल समय में ये शिक्षक विद्यार्थियों को योगाभ्यास के साथ ही विभिन्न आसन भी सिखाएंगे। 
दो घंटे चलेगी योग की कक्षा 

सभी जिलों में तैनात होंगे जिला योग प्रशिक्षक

सभी जिलों में तैनात होंगे जिला योग प्रशिक्षक

प्रदेश के हर जिले में एक 'जिला योग प्रशिक्षक' की तैनाती की जाएगी। इसके लिए योग प्रशिक्षक के सभी खाली पद भरे जाएंगे। जहां पद नहीं हैं, वहां नए सृजित किए जाएंगे। युवा कल्याण महानिदेशालय ने यह प्रस्ताव शासन को भेज दिया है। प्रदेश में योग को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश सरकार कई स्तर से प्रयास कर रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खेल एवं युवा कल्याण विभाग की समीक्षा के दौरान भी योग शिक्षा को बढ़ावा देने की बात कही थी। साथ ही इसके लिए जरूरी प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिए थे। खेल एवं युवा कल्याण मंत्री चेतन चौहान भी लगातार युवा कल्याण विभाग को सक्रिय करने की बात कह रहे हैं। विभाग की बंद पड़ी कई ग

हृदय रोगों में योगासनों के लाभ

भारत में हर साल दिल की विमरियो या हार्ट अटैक से लाखो मौत होती हैं यह बीमारी मानसिक तनाव दूषित खान पान व्लड प्रेशर आदि कारणों से होती है योग एक जरिया है जिससे हम अपने दिल को बीमारियों से सुरक्षित रख सकते हैं। ऐसे योगासन हैं, जिसमें सबसे ज्यादा फोकस सांसों पर होता है, जिससे हमारा रेस्पिरेटरी सिस्टम दुरुस्त रहता है।दिल की बीमारियों को कार्डिवस्‍कुलर डिजीज कहा जाता है। चिकित्‍सीय भाषा में दिल की बीमारियों के लिए यही शब्‍दावली इस्‍तेमाल की जाती है। रजिस्‍ट्रार जनरल ऑफ इंडिया और इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के एक नए शोध के मुताबिक भारत में बड़ी संख्‍या में लोग दिल की बीमारियों के कारण गंवाते ह